U.P. Doorast B.T.C. Shikshak Sangh
News of the Day
We say

Our Lines

pic
facebook
|
profile

dinesh yadav

Director

दैनिक जीवन में हमें कई कड़वे अनुभवों से दो-चार होना पड़ता है। कड़वे अनुभव पाठशाला की तरह होते हैं, जो हमें अलग-अलग तरह की सीख देते हैं और जीवन पथ पर आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते हैं...'गंगा को धार तभी मिलती है, जब वह ऊबड़-खाबड़ रास्तों से होकर गुजरती हैर्। इंसान के जीवन में ऊबड़-खाबड़ रास्ते उसके कड़वे अनुभव हैं, जिनका स्वाद चखने के बाद ही वह जीवन पथ पर अग्रसर होता है।..............अगर आपने किसी काम को करने का प्रयास किया और आपको उसमें सफलता मिल गई, तो इसका मतलब है कि आप बने-बनाए रास्तों पर चल कर आगे बढ़े हैं। आपने कुछ भी नया नहीं किया है। वहीं अगर आपको अपने प्रयास में असफलता हाथ लगती है, तो अनजान राहों पर चलने के लिए आप अग्रसर होते हैं। हो सकता है कि लीक से हटकर चलने का आपने दुस्साहस किया हो, पर यदि आपको इसमें कामयाबी मिलती है, तो परिस्थितियों और चीजों को समझने का पैनापन भी आता है।..................भारतीय दर्शन के अनुसार, सुख और दुख जीवन के चक्र हैं, जो बदलते रहते हैं। अगर हम दूसरे पहलू पर गौर करें, तो ये सापेक्षिक भी होते हैं। अगर किसी व्यक्ति के लिए किसी चीज को पाने में अक्षम होना असफलता है, तो दूसरा व्यक्ति उसे पाकर सफल हो जाता है। कई बार असफल होने पर व्यक्ति कार्य करना छोड़ देते हैं। उनमें निराशा का भाव प्रबल हो जाता है, जबकि जीवन आशा का केंद्र है। अगर हम किसी कार्य के लिए लगातार प्रयास नहीं करेंगे, तो फिर सफलता कैसे मिलेगी? दरअसल, असफलता ही सफलता का सोपान है। कड़वे अनुभवों से सीख लेकर ही हम परिस्थितियों से मुकाबला करने में सक्षम होते हैं।

We say

Aahawan

Positive Thinking May Not Guarantee Success, Bt Negative Thinking DEFiNiTELY Guarantees Failure! So always hv +ve attitude.

....Chanakya
We say

Holidays Of Month

4 Nov, 14

Moharram

6 Nov, 14

Kartik Purnima/ guru nanak jayanti

16 Nov, 14

Virangna Uda Devi Shahid Diwas

24 Nov, 14

Guru Teg Bahadur Sahid Diwas

Leader's Talk

Guest

Mr. Anil Yadav

Pradesh Adhyaksh

Doorast B.T.C. Shikshak Sangh

Uttar Pradesh

www.upshikshamitra.com va doorast B.T.C. shikshak Sangh aap ke ujjaval bhavishya ke liye lagatar prayasrat hai. Pratham batch ke samayojan ke baad se hum sabhi lagatar prayas-rat hai ki ati-sheeghra second batch ke shikshamitron ke samayojan ki prakriya prarambh ho aur esee krum me humare sangathan ke dvara pratyek zile me pariksha ke pahle AANTRIK MULYANKAN ke liye DIETs per dabav banaya ja raha hai. AAP SABHI SE SAHYOJ KI APEKSHA HAI.

 

© Copyright 2014-15 | All Rights Reserved & Governed By: Doorast B.T.C. Shikshak Sangh, U.P.